Holi hai

*तमन्ना तुम्हे रंग लगाने की नही हैं ।* *तमन्ना तुम्हारे रंग में रंग जाने की हैं ।।*

आँखों की बात

इश्क़ करने वाले आँखों की बात समझ लेते है     सपनो में यार आए तो उसे मुलाकात समझ लेते है रूठता तो आसमान भी है अपनी ज़मीन के लिए     यह तो लोग ही उसे बरसात  समझ लेते है।

माँ

कहा होता है इतना  तज़ुर्बा                             किसी डॉक्टर के पास माँ  आवाज  सुनकर  बुखार  नाप  लेती है।

याद

कभी सुबह याद आते हो                                      कभी शाम को याद आते हो कभी – कभी तो इतना याद आते हो                     की आइना हम देखे और नज़र आप आते […]

तुम

​फ़िज़ाओं में आई सब बहारों की गुलिस्ता हो तुम चहरे पर हमारे जो मुस्कान है उसकी वजह हो तुम इस अंधेरों भरी ज़िन्दगी का उजाला हो तुम दर्द भरी राह में बस एक मसीहा हो तुम हर गम हर दर्द की दवा हो तुम एक अनदेखे अनजाने ख्वाब की हक़ीक़त हो तुम प्यार की मीठी […]