A Half Love story

ये कहानी मेरे पहले प्यार की है जो अधूरा रह गया। कहते है प्यार किसी को युही नही मिल जाता
बड़े पापड़ बेलने पड़ते है।
मेरी कहानी भी कुछ इस तरह ही है
एक सवाल आया की एक लड़की आखिर चाहती क्या है

कभी – कभी समझना मुश्किल हो जाता है एक लडक़ी को, की वो क्या बोलती है, क्या सोचती है यह सब हम लड़को को समझने में पूरी उम्र लग जाती हैं।

ये कहानी मेरी जिंदगी का वो खूबसूरत पल है जिसे मै कभी भूल नही सकता।

कहानी की शुरुआत होती है एक facebook request se.

अप्रैल 2015 

Character – अभिषेक (में) और पृथ्वी  दोस्त ।

गर्मी के दिनों में अभिषेक के घर पर बेठे थे दोनों दोस्त चाय की चुस्कियां लेते हुए बाते करते है-

पृथ्वी – यार कितनी गर्मी है , timepaas नही हो रहा है।

अभिषेक- हां यार सही कहा

दोनों facebook on करते हैं

अभिषेक-  यार facebook पर भी कोई है नही जिससे बाते करे , कोई पहचान की girl हो तो suggest कर।

पृथ्वी – भाई एक लड़की है , प्रियंका नाम है

उसको request send कर।

अभिषेक- प्रियंका को request send करता है प्रियंका request accept कर लेती है

और यही से start होती है इनकी कहानी जो सबसे अलग सबसे जुदा।

बाते दोनों के बीच intro से शुरू होती है

अभिषेक – hy how are you

प्रियंका – fine, you

अभिषेक- नही यार में ठीक नही हूं

प्रियंका – क्यों क्या हुआ।

अभिषेक- यार कितनी गर्मी है यहाँ (सरदारपुर)

प्रियंका- हां यार सही कहा।

Abhishek – तो क्या करती हो आप

प्रियंका – study 12th me और aap

अभिषेक- Bsc

Priyanka- achha kha se kr rhe ho

Abhishek- आगरा

प्रियंका- वही जहाँ ताज महल है।

अभिषेक- हां वही, आप गयी है कभी 

प्रियंका- नही यार घरवाले नही जाने देते।

अभिषेक- ओह्ह । तो चलो अगले हफ्ते में जा रहा हु

प्रियंका – नही अभी आप जाओ । next time

अभिषेक- ok

प्रियंका- ok by अभिषेक जी। बाद में बात करती हूं।

अभिषेक- bye

इस तरह बातो का सिलसिला चलता रहा।अभी तक अभिषेक ने प्रियंका को देखा नही था

फोटो भी नही।

अगली सुबह

प्रियंका – good morning

अभिषेक – hlo gm

प्रियंका – क्या कर रहे हो

अभिषेक- आपको ही याद कर रहा था

प्रियंका- oh wow वेसे kyo कर रहे थे

अभिषेक- अरे दोस्तों को बिना कारण नही कर सकता क्या।

प्रियंका – ☺☺☺ हा बिलकुल

अभिषेक- मैने एक शायरी लिखी है आपके लिए 

प्रियंका- हां बिलकुल

अभिषेक-  कल तन्हा रात आपकी याद आई                            तन्हा मिटाने के लिए हमने कॉफी बनाई।                      पर कयामत तो तब आई                     जब कॉफी के सितम ने भी आपकी तस्वीर बनाई।

प्रियंका -wow yaar अभिषेक जी i like you                  ☺☺ i mean aapki baate

अभिषेक- में समझा☺☺

प्रियंका – क्या

अभिषेक- कुछ नही।

दोनों हसने लगते है।

दिन गुजरते गये, उनकी बातें ऐसे ही चलती रही

प्रियंका ओरो से बिलकुल अलग , मासूम सी दिखने वाली और बिलकुल साफ दिल की लड़की थी।     अभिषेक उसकी ईसी बात पर फ़िदा हो गया।

अभिषेक- प्रियंका, इतने दिन हो गये बात करते – करते मैने अभी तक तुम्हे देखा नही 

प्रियंका – देखा तो मैने भी नही तुम्हे।

अभिषेक- हा पर तुमने मेरा फोटो तो देखा है plz send me your pic

प्रियंका- अभी नही बाद में , अभी achhi pics नही है

अभिषेक- अरे मुझे चलेगा मूझे ऐसी ही pic चाहिए बिना makeup और edit की

प्रियंका – ok करती हूं। पर अच्छी न लगे तो मत बोलना☺☺☺☺

अभिषेक – ha चलेगा। ☺☺☺

वेसे ईस बात पर अर्ज़ है- 

प्रियंका- जी जरूर फरमाइये

अभिषेक- तुझे देखे बिना तेरी तस्वीर बना दू,                          तुझे मिले बिना तेरा हाल बता दू

            ए दोस्त इतनी ताकत है मेरी दोस्ती में। ।                  की  तेरे आंख से निकला आंसू

                   अपनी आँख से गिरा दू

प्रियंका – ☺☺☺☺☺☺ बहुत खूब यार पर एक बात बताओ

अभिषेक- हां पूछो

प्रियंका- जब बिना देखे फोटो बना सकते हो तो pic kyo maanga:):):):)

अभिषेक- अरे ☺☺☺☺☺

Priyanka smile and send her photo

अभिषेक- wow यार बहुत beautiful हो

प्रियंका – कुछ भी☺☺

अभिषेक- schhi yaar u are more beautiful than me☺☺☺

प्रियंका- ☺☺☺☺☺☺नही यार आप तो आप हो

अभिषेक- अरे आपके आगे में कुछ नही।☺☺☺

प्रियंका- ठीक by bad में बात करती हूं

अभिषेक- अरे यार bye बोलने का मन नी होता

प्रियंका – पागल ☺☺☺ शाम को बात करती हूं tc।

अभिषेक- ओके यार by

अभिषेक उसे बहुत miss करने लगा, जब भी प्रियंका on नही रहती वो उसके पुराने msg पड़तावो जनता नही था कि उसे प्यार हो रहा है। 

अभिषेक –  प्रियंका को उसके दिल की बात बताना चाहता था पर डरता था, कहि प्रियंका नाराज न हो जाये। क्योकि प्रियंका सबसे अलग लड़की थी।

अभिषेक- good ev. Piyu

प्रियंका- hy abhi, kya कर रहे हो

अभिषेक- हमारे पुराने msg पड़ रहा था

प्रियंका – क्यों

अभिषेक- तुम्हारी याद आरी थी

प्रियंका- क्यों याद करते हो इतना 

Abhi- ……… 

प्रियंका- तुम ठीक हो

Abhi- कैसे बोलते है यार

प्रियंका- अरे बोलो

Abhi- I think , I love you

Priynka – are yar plz esa mt bolo

अभि- plz piyu i really love you

प्रियंका- ………

प्रियंका मोबाइल बन्द कर लेती है।

अभि रोने लगता है।।                                          अगले दिन

अभिषेक – प्रियंका को फ़ोन करता है, प्रियंका फ़ोन नही उठाती हैं। online होती है whatsapp pr

प्रियंका- call क्यों किया

अभि- यार sorry, चाहे तो उस बात का जवाब मत दे बस बात कर ले यार।

प्रियंका- पर तुम फिर से वही बात नही करोगे

Abhi- ha ठीक , पर एक बात बताओ             प्रॉब्लम क्या है , हां करने में।

प्रियंका- क्योंकि में किसी और से……….

Abhi- पहले क्यों नी बताया 

प्रियंका- यार AV पापा ने देखा है , उसे मेरे लिए

Abhi- तो क्या हुआ यार PV 

प्रियन्का- अब वो जो चुनेगे वही सही होगा मेरे लिए

Abhi- तूने बिना मिले हां कर दी

PV – haa

Abhi- और मुझसे मिलने के बाद भी ना.

PV- यार तू समझ नी रहा, में पापा के खिलाफ नही जा सकती, और वो अच्छा लड़का है

AV- बिना मिले तुझे पता है वो अच्छा है, मतलब में बुरा हु।

PV- नही यार तू तो best है

Abhi- wow so sweet of you

अच्छी बात कही दिल बहलाने के लिये

Pv- यार तू

Av- :?:?:?:?:?:?यार बहुत प्यार हो गया है तुझसे , मर जाऊँगा तेरे बिना

Pv- यार plz ये फ़िल्मी डायलॉग्स मत बोल

कोई किसी के बिना नही मरता, और हां मेरी शादी में आना जरूर।

Abhishek blocked her .

अभिषेक के दिल पर क्या बीत रही थी, उसका अंदाज़ा कोई नही लगा सकता।

वो उसकी PV के बिना नहीं रह सकता । अपनी इस तकलीफ को वो शराब से दूर करने लगा।

वो कहते है न इश्क़ सच्चा वही जिसको मिलती नही मंज़िले

मेरी भी कुछ ऐसी ही कहानी है आज भी वो चश्मिश मेरी pv रोज मुझे gm कहने आती है

आज भी ऐसा लगता हैं उसकी ही खुशबु इन हवाओ में है।

I LOVE YOU pv

परियो सी एक लड़की

Pariyo si sunder ek ladki hai.         jaane kya jadu karti hai

    chahe jitna gam ho per dekh ke uski surat ,                                                      dil ko khushi milati hai

    chand sa roshan chehara hai.      aankho se masti jhalkati hai.         baate hai misri si                           meethi awaz me koi koyal bolati hai

    rup hai uska koi khilata hua kamal. usko dekhkar hi shayad gazal banati hai

    kisi pal bhi wo na dur rahi humse.   her pal jo mere saanso me basti hai

    Usko ko dekhkar aur baato se hi jaane kitni khwahish is dil me palati hai

    Holi hai

    *तमन्ना तुम्हे रंग लगाने की नही हैं ।*

    *तमन्ना तुम्हारे रंग में रंग जाने की हैं ।।*

    आँखों की बात

    इश्क़ करने वाले आँखों की बात समझ लेते है     सपनो में यार आए तो उसे मुलाकात समझ लेते है
    रूठता तो आसमान भी है अपनी ज़मीन के लिए     यह तो लोग ही उसे बरसात  समझ लेते है।

    माँ

    कहा होता है इतना  तज़ुर्बा                             किसी डॉक्टर के पास

    माँ  आवाज  सुनकर  बुखार  नाप  लेती है।

    याद

    कभी सुबह याद आते हो                                      कभी शाम को याद आते हो
    कभी – कभी तो इतना याद आते हो                     की आइना हम देखे और नज़र आप आते हो